स्वप्नदोष क्या है? (Swapandosh kya hai?)

0
27
Swapandosh Ke Karan Or Upay - Sex Samasya
Swapandosh Ke Karan Or Upay - Sex Samasya

क्या होता है स्वप्नदोष?क्या होता है स्वप्नदोष? (Kya hota hai swapandosh?)

नींद में कोई अश्लील व कामुक स्वप्न देखते हुए वीर्य का स्खलित हो जाना, स्वप्नदोष (swapandosh) कहलाता है।

जिसे आप नाईट फॉल के नाम से भी जानते होंगे।

इसमें बॉडी रिलेशन बनाना केवल काल्पनिक होता है, जिसका हकीकत से कोई लेना-देना नहीं होता है।

लेकिन स्वप्न में ऐसा ही महसूस होता है जैसे सही में पुरूष किसी स्त्री के साथ रिलेशन बना रहा है।

फिर इसी प्रक्रिया में आगे चलकर वीर्य स्खलन हो जाता है।

एक प्रकार से नींद में ही पुरूष अपनी कामवासना को शांत करके तृप्त हो जाता है।

आप यह हिंदी लेख SexSamasya.com पर पढ़ रहे हैं..

नाईट फॉल के कारण क्या हैं? (Nightfall ke karan)

स्वप्नदोष यानी नाईट फॉल के कारणों टाइप में बांटा जा सकता है। जैसे कि पहला मानसिक करण और दूसरा शारीरिक कारण।

मानसिक कारण

देखा जाये तो स्वप्नदोष होने में सारा खेल मुख्य रूप से हमारा माइंड का ही होता है।

दरअसल जब कोई पुरूष बुरे व अश्लील विचारों में हमेशा खोया रहता है।

हर वक्त स्त्री या सुंदर युवा लड़कियों के शारीरिक अंगों की कल्पना में रहता है।

तो इसे विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण कहते हैं।

यही कारण है पुरूष की तीव्र जिज्ञासा, एक प्रकार से वासना का रूप ले लेती है।

जो कार्य व्यक्ति नींंद में जागते हुए नहीं कर पाया था।

उसे फिर रात को नींद में स्वप्नदोष के द्वारा पूरा करने लगता है।

शारीरिक कारण

शारीरिक कारण में पुरूष की अंदरूनी शारीरिक कमियों की वजह से स्वप्नदोष की समस्या होनी शुरू होती है।

जैसे- पेट में गर्मी हो जाना, तेज मसालेदार भोजन का सेवन करना, नशीले पदार्थों का सेवन,

मदिरापान, धूम्रपान, देर रात भोजन करने की आदत, पेट के बल लेटना, तंग वस्त्र पहन कर सोना,

बार-बार लिंग को स्पर्श करना, महिलाओं व लड़कियों के सम्पर्क में ज्यादा समय बितना,

किसी स्त्री के द्वारा बार-बार टच किये जाने से आदि।

स्वप्नदोष के लक्षण क्या हैं? (Swapandosh ke lakshan)

  1. नींद की कमी।
  2. हर समय मन का बेचैन रहना।
  3. मूत्र त्याग के दौरान दर्द महसूस होना।
  4. लिंग के मुखाने पर हमेशा चिपचिपाहट रहना।
  5. धातु रोग।
  6. आलस महसूस होना।
  7. स्वभाव में चिड़चिड़ापन।
  8. आंखों के नीचे काले घेरे बन जाना।

नाईट फॉल के नुकसान क्या हैं? (nightfall ke nuksan)

Swapandosh Ke Nuksan - Sex Samasya
Swapandosh Ke Nuksan – Sex Samasya

जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि एक तरह का दोष। लेकिन बता दें कि यह कोई दोष नहीं है।

बल्कि यह तो एक नॉर्मल सेक्सुअल प्रोसेस है, जो कई बार जवानी की ओर कदम बढ़ा रहे युवाओं में देखने को मिलता है।

लेकिन एक या दो से ज्यादा बार नाईट फॉल होता है, तो यह बीमारी की शक्ल ले लेता है।

जिसमें नाईट फॉल का इलाज जरूरी होता है।

स्वप्नदोष का घरेलू इलाज नहीं कराने के कारण यह प्रॉब्लम फ्यूचर में दूसरी सेक्स प्रॉब्लम्स का कारण बन सकती है।

जिसे स्वप्नदोष के नुकसान माना जा सकता है।

स्वप्नदोष से होने वाले नुकसान जैसे- याददाश्त कमजोर हो जाना, आंखों की रोशनी कमजोर हो जाना, कब्ज की शिकायत,

हीनभावना का शिकार होना। एकांत में रहने की आदत बन जाना, ज्यादा बार नाईट फॉल के कारण वीर्य व शुक्र का नुकसान होता है।

जिस कारण नाईट फॉल का रोगी अंद से खुद को खोखला महसूस करने लगता है।

प्राकृतिक कामेच्छा में कमी आ जाना। सेक्स समस्या से पीड़ित हो सकता है।

समस्या समस्या जैसे कि शीघ्रपतन और नपुंसकता की संभावना सबसे ज्यादा होती है।

सेक्स समस्या का रोगी बन जाने के कारण शादीशुदा जिंदगी पर गहरा असर पड़ता है।

पति-पत्नी के रिश्तों की मधुरता में कमी आ सकती है।

स्वप्नदोष के घरेलू उपाय (Swapandosh ke gharelu upay)

  • 50 ग्राम ताजे आंवलों को लेकर इनका ताजा रस निकाल लें। शहद के साथ मिलाकर इस रस को लेना शुरू करें। यह नुस्खा आपको सुबह खाली पेट लेना है। नियमित रूप से इस उपाय को करने से एक सप्ताह के अंदर ही आपकी स्वप्नदोष की समस्या ठीक हो सकती है।
  • अश्वगंधा का सेवन करने से स्वप्नदोष कम हो सकता है। इसके अलावा, यह शरीर को शांति प्रदान करता है और नींद को बढ़ावा देता है।
  • शंखपुष्पी का सेवन भी स्वप्नदोष को रोकने में मदद कर सकता है। यह दिमाग को शांत रखने में सहायक होता है और अच्छी नींद को आने में मदद करता है।
  • सफेद मूसली का सेवन भी स्वप्नदोष को रोकने में मदद कर सकता है। यह वीर्य की मात्रा में कमी लाता है और नाईट फॉल को कम करने में सहायक होता है।
  • जायफल को दूध के साथ सेवन करने से भी स्वप्नदोष को रोकने में फायदा हो सकता है। दूध में जायफल मिलाकर रात को पीने से अच्छी नींद आती है और स्वप्नदोष कम हो सकता है।
  • त्रिफला चूर्ण का नियमित सेवन भी स्वप्नदोष को कम करने में मदद कर सकता है। इसके सेवन से शरीर का डिटॉक्सिफिकेशन होता है और स्वप्नदोष की समस्या कम हो सकती है।
  • आंवलों के चूर्ण में हल्दी मिलाकर इसे धीमी आंच पर अच्छे से पका लें। पक जाने पर इसमें पिसी हुई धागे वाली मिश्री मिला लें। इस तैयार घरेलू दवा को प्रतिदिन सुबह खाली पेट आपको दो चम्मच लेना है। केवल पांच दिन के अंदर स्वप्नदोष में आराम मिल जायेगा। साथ ही यह नुस्खा शीध्रपतन को दूर करने में भी सहायक है।

क्या स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवा की मदद से इसे ठीक किया जा सकता है?

जी बिल्कुल! नाईट फॉल की आयुर्वेदिक मेडिसिन के सेवन से नाईट फॉल को ठीक करने में पूरी मदद मिलती है।

लेकिन इससे पहले आपको आयुर्वेद के एक्सपर्ट से सलाह लेनी चाहिए।

डॉक्टर से पूछने के बाद ही कोई दवा शुरू करनी चाहिए। बाकी आप आयुर्वेद की शरण में जा सकते हैं।

क्योंकि आुयर्वेद हमेशा सुरक्षित और प्रभावशाली होता है। लेकिन इसे शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़ें –

नाईट फॉल की बेस्ट आयुर्वेदिक दवा कौन सी है? (Nightfall ki best ayurvedic medicine kon si hai?)

Nightfall Dur Karne Or Shukranu Badhane Ki Ayurvedic Medicine SHUKRA KING
Nightfall Dur Karne Or Shukranu Badhane Ki Ayurvedic Medicine SHUKRA KING

आप काहन आयुर्वेदा (Kaahan Ayurveda) का शुक्रकिंग (ShukraKing) सेवन करें। ये स्वप्नदोष की बेहतरीन आयुर्वेदिक दवा है। कई लोगों ने इसका सेवन किया है और कमाल के रिजल्ट हासिल किए हैं। कई युवा लड़कों की प्रॉब्लम को इस औषधी ने ठीक करके, उन्हें भविष्य में आगे बढ़ने के लिए एक प्रकार की शक्ति दी है। जोकि लगातार नाईट फॉल की समस्या के कारण वो नहीं कर पा रहे थे। प्राकृतिक जड़ी-बूटियों की शक्ति से बनी ये दवा, कोई भी साइड इफेक्ट नहीं करती है। इसलिए आप निश्चिंत होकर शुक्रकिंग का सेवन कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here